Jun 17, 2024, 12:24 IST

आई-स्टार्ट की ओर से आयोजित वर्कशॉप्स में 100 से अधिक स्टार्टअप आंत्रप्रेन्योर्स ने भाग लिया

आई-स्टार्ट की ओर से आयोजित वर्कशॉप्स में 100 से अधिक स्टार्टअप आंत्रप्रेन्योर्स ने भाग लिया

कोटा,  जून, 2024: स्टार्टअप्स में पब्लिक रिलेशन, मार्केटिंग एवं सस्टेनेबिलिटी के प्रति जागरूकता लाने तथा उन्हें सशक्त करने हेतु शुक्रवार को राज्य सरकार के सूचना प्रौद्योगिकी एवं संचार विभाग द्वारा संचालित आई-स्टार्ट कार्यक्रम एवं मीडिया पार्टनर योरस्टोरी की ओर से संयुक्त रूप से दो वर्कशॉप्स का आयोजन 14 जून को कोटा स्थित आईस्टार्ट नेस्ट, इनक्यूबेशन सेंटर में किया गया। 

प्रभारी अधिकारी मनोज कुमार मीना (उपनिदेशक) ने बताया कि आई-स्टार्ट की ओर से आयोजित वर्कशॉप्स में 100 से अधिक स्टार्टअप आंत्रप्रेन्योर्स ने भाग लिया। 

इन्दौर स्थित चुनिन्दा क्षेत्रीय पब्लिक रिलेशन्स कंपनी, पीआर 24x7 की प्रेसिडेंट श्रीमति नेहा गौर ने श्रोताओं को पीआर और ब्रांडिंग की आवश्यकता, पीआर और मार्केटिंग में अन्तर, पीआर किस समय करवाना चाहिए और पीआर के प्रकारों जैसे महत्वपूर्ण विषयों पर विस्तृत जानकारी दी तथा स्टार्टअप्स की तमाम शंकाओं का समाधान किया। 

नेहा गौर ने कहा, "पब्लिक रिलेशन्स वास्तव में क्या है, इस बात से लोग अवगत नहीं हैं। पीआर और मार्केटिंग के बीच एक बारीक-सी लाइन है, जो दोनों के काम और परिणाम को अलग बनाती है। इस सेशन से यह मिथक दूर हुआ, जिसमें लोगों ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया और कई सवालों के जवाब जानकर पीआर के बारे में वास्तविक जानकारी हासिल की।"

वेस्ट मैनेजमेंट स्टार्टअप वीवॉइस स्टार्टअप 14 नगर निगमों व शहरों के साथ मिलकर टेक्नोलॉजी और एप्लीकेशन के माध्यम से म्यूनिसिपल सॉलिड वेस्ट के मैनेजमेंट पर कार्य करता है। इसके सहसंस्थापक एवं सीईओ अभिषेक गुप्ता तथा सीटीओ अभिनव शेखर वशिष्ठ ने स्टार्टअप तथा उद्यमी के रूप में अपनी व्यक्तिगत यात्रा पर प्रकाश डाला। उन्होंने विभिन्न उदाहरण देते हुए वेस्ट मैनेजमेंट में आने वाली जमीनी स्तर की कठिनाइयों और उनका सामना करने के अपने अनुभव साझा किए। साथ ही, उन्होंने स्टार्टअप्स को प्रोडक्ट डेवलपमेंट के कई गुर बताए तथा व्यवसाय को बाजार के अनुसार और अधिक सस्टेनेबल, प्रॉफिटेबल एवं ग्राहक के अनुकूल और अधिक व्यावहारिक बनाने जैसे बिंदुओं पर चर्चा की। 

आईस्टार्ट नेस्ट, मेंटर्स आयुष त्यागी और कौस्तुभ भट्टाचार्य ने कार्यक्रम का सफलतापूर्वक संचालन किया।

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement